अगर आप सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) यूजीसी NET 2018 की तैयारी कर रहे है तो आज हम आपको कुछ टिप्स देने जा रहे है जो नेट दिसम्बर 2018 की तैयारी में आपकी काफी मदद करेंगे. आपको बता दें कि सीबीएसई नेट 2018 का आयोजन दिसंबर को होने जा रहा है.

लेकिन खास बात ये है कि इस बार नेट के एग्जाम में काफी बदलाव किया गया है. सीबीएसई ने इस बार से नेट के तीन पेपर की जगह दो ही पेपर लेने का फैसला किया है. जी हाँ इस साल से नेट के एग्जाम में उम्मीदवारों को तीन की जगह अब दो ही पेपर देने होंगे. अगर आप भी दिसंबर 2018 की नेट परीक्षा में बैठने जा रहे है तो आपको बता दें कि नेट दिसंबर की तैयारी के लिए अब मात्र 3 माह ही बचा है. अगर आप परीक्षा में पास होना चाहते हैं तो जानें कैसे करें कम समय में बेहतर तैयारी.

सिलेबस और एग्जाम पैटर्न-

अगर आप चाहते है कि योजनाबद्ध तरीके से नेट की तैयारी की जाए तो आपको नेट-2018 का सिलेबस और एग्जाम पैटर्न जरूर देखना चाहिए. किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में सफलता पाने के लिए सिलेबस और एग्जाम पैटर्न का ज्ञान होना जरूरी है. फिलहाल नेट एग्जाम को सिर्फ 1 महीना ही बचा है ऐसे में पूरे सिलेबस को एक बार जरूर कवर करने की कोशिश करें. अगर आप एक बार पूरे सिलेबस को पढ़ चुके है तो अब आपको रिवीजन करने की जरूरत है. लेकिन अगर आपने अभी पढ़ाई शुरू नही की है तो आपको पूरे सिलेबस को पढ़ने के लिए समय सीमा बढ़ानी होगी और ज्यादा से ज्यादा समय पढ़ने के लिए देना होगा.

फुल टाइम जॉब करते हुए कैसे करें IAS की तैयारी ?

upsc ias exam preparation with job

पढ़ने का समय बढ़ाएं-

अब तक आप नेट की तैयारी के लिए जितना भी समय दे रहे थे वो काफी था. लेकिन अब नेट एग्जाम में सिर्फ 1 महीने का समय रहा है इसलिए अब आपको अपने पढ़ने और तैयारी के समय को बढ़ाना होगा. दरअसल नेट का सिलेबस काफी बड़ा होता है और कम समय में इतने बढ़े सिलेबस को कवर करना मुश्किल होता है इसलिए आखिरी समय में ज्यादा से ज्यादा पढ़ने का समय देना चाहिए.

बेसिक जानकारी-

नेट परीक्षा में बहुत सारे सवाल बेसिक लेवल की जानकारी वाले होते है ऐसे में आपकी बेसिक जानकारी पर कमांड होना जरूरी है. अगर आपकी बेसिक लेवल पर पकड़ रहेगी तो पूरा सिलेबस समझने में आसानी होगी. लेकिन कम समय में तैयारी करने के लिए बेसिक लेवल तक जाना आसान नही है इसलिए बेसिक को समझने के लिए आप शॉर्ट नोट्स की मदद ले सकते है.

योजना बनाकर करें तैयारी-

कम समय में तैयारी करने के लिए योजना बनाना जरूरी है. हर रोज ज्यादा से ज्यादा समय तैयारी के लिए देने की कोशिश करें. अगर आप रोजाना टाइम-टेबल बनाकर नेट की तैयारी करेंगे तो सवालों को हल करने की आपकी स्पीड बढ़ती जाएगी.

सही स्टडी मटेरियल-

कई बार स्टूडेंट्स जल्दबाजी के चक्कर में मार्केट से उन किताबों को खरीद लाते हैं, जिसका स्टडी मैटेरियल बहुत ही घटिया होता है. जिसका असर तैयारी पर पड़ता है. नेट की तैयारी करने के लिए हमेशा सोच-समझकर और सलाह लेकर ही कोई किताब खरीदें.

शॉर्ट नोट्स की मदद-

आखिरी समय में तैयारी के लिए ये जरूरी है कि आप जितने भी टॉपिक पढ़ते जाएं उनके शॉर्ट नोट्स भी साथ में बनाते जाएं. शॉर्ट नोट्स से आखिरी समय में रिवीजन करने में आपको आसानी रहेगी और आप कम समय में ज्यादा से ज्यादा सिलेबस पढ़ पाएंगे.

प्रैक्टिस-

किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में सफलता का सिर्फ एक ही फंडा है ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस की जाए. यही बात नेट 2018 के एग्जाम पर भी लागू होती है. एक प्लान बनाकर नेट के मॉडल पेपर की तैयारी करें. आप चाहें तो मॉक टेस्ट की प्रैक्टिस भी कर सकते है.

रिवीजन-

आपने नेट के लिए अब तक जितनी भी तैयारी की है अगर एग्जाम के आखिरी समय में उसका रिवीजन नही किया है तो आपके अब तक पढ़ने का कोई मतलब नही है. नेट का एग्जाम टफ जरूर होता है लेकिन अगर आपने पूरा सिलेबस पढ़ने के बाद आखिरी समय में उसका रिवीजन किया है तो आप आसानी से नेट का एग्जाम निकाल सकते है. इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि आखिरी समय में आपको रिवीजन ही करना है.