ब्लैक होल थिअरी के लिए मशहूर ब्रिटिश साइंटिस्ट स्टीफन हॉकिंग का आज 76 साल की उम्र में निधन हो गया. उनकी फैमिली के स्पोक्सपर्सन ने खबर की पुष्टि की है. लेकिन उनकी मौत कैसे हुई अभी इसका पता नहीं चला है.

हॉकिंग का जन्म 8 जनवरी 1942 को ऑक्सफोर्ड में हुआ था. 1963 में हॉकिंग को मोटर न्यूरॉन बीमारी का पता चला था. उस वक्त उनकी उम्र महज 21 साल थी. तब उनके महज 2 साल जिंदा रहने की बात कही गई थी.

इसके बाद वे कैम्ब्रिज में पढ़ने चले गए. अल्बर्ट आइंस्टीन के बाद हॉकिंग सबसे काबिल भौतिकविज्ञानी माने जाते थे. हॉकिंग पर साल 2014 में एक फिल्म भी बनी थी. नाम था, “द थ्योरी ऑफ एवरीथिंग” भी बनी. इसमें एडी रेडमेन और फेलिसिटी जोन्स ने प्रमुख भूमिका निभाई

1974 में हॉकिंग ब्लैक होल्स की थ्योरी लेकर आए. इसे ही बाद में हॉकिंग रेडिएशन के नाम से जाना गया. हॉकिंग ने ही ब्लैक होल्स की लीक एनर्जी के बारे में बताया. 1988 में उनकी ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम बुक पब्लिश हुई. इसकी एक करोड़ से ज्यादा कॉपियां बिकीं.