हैदराबाद की एक सॉप्टवेयर कंपनी में काम करने वाला नागेश्वर राव एक पॉर्न वेबसाइट का प्रीमियम मेंबर बनना चाहता था. वेबसाइट की अपनी शर्त थी की अगर किसी को प्रीमियम मेंबर बनना हो तो उसको किसी और व्यक्ति की वीडियो अपलोड करना होगा. उसके बाद वेबसाइट आपको प्रीमियम मेंबर बना देगी. बदले में कुछ पैसे भी मिलेंगे. प्रीमियम मेंबर बनने के बाद वीडियो अपलोड़ करते रहने पर पॉइंट भी मिलते रहते हैं.

नागेश्वर ने भी यही किया. पहले नौकरानी को अपने चक्कर में फसाया फिर उससे संबंध बनाए और वीडियो भी. कुछ दिन बाद उसने पॉर्न वेबसाइट पर अपलोड भी कर दिया.

एक दिन पीड़िता के बेटे के एक दोस्त ने उस वीडियो को देखा. जिसके बाद उसने पीड़िता के बेटे को ये बात बताई. बेटे ने मां के. जब मां ने ये वीडियो इंटरनेट पर देख उसके होश उड गए. उसने तुरंत पुलिस थाने में जाकर इस बात की शिकायत दर्ज कराई. पीड़िता की शिकायत और मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने नागेश्वर को हिरासत में ले लिया.

पुलिस द्वारा मामला दर्ज किए जाने के बाद इस वीडियो को पोर्न बेवसाइट और उसके लिंक को इंटरनेट से हटाने की कवायद शुरु हो चुकी है. पुलिस ने आरोपी नागेश्वर पर रेप, आईटी और एससी/एसटी ऐक्ट के तहत मामला दर्ज कर पूछताछ शुरु कर दी है.

“नोट: ऐसी वेबसाइट के चक्कर में ना पड़े वर्ना आपका हाल भी नागेश्वर जैसा ही होगा”.