शरतचंद्र चट्टोपाध्याय की नॉवल ‘देवदास’ पर वैसे तो कई फिल्में बन चुकी है. लेकिन इस बार जो बन रही है वो थोड़ी उलट है. नाम रखा गया है ‘दास देव’.

dasdev-samacharcafe

जो डायरेक्टर इस फिल्म को बना रहा है उसका नाम है “सुधीर मिश्रा”. सुधीर इससे पहले ‘हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी’, ‘ये साली ज़िंदगी’ जैसी फिल्में बना चुके है. अब ‘दास देव’ बना रहे है.

सुधीर कहते हैं कि अगर आप इसे ‘देवदास’ समझ रहे हैं, तो आप गलत हैं. फिल्म के किरदारों के नाम वही हैं लेकिन फिल्म पूरी तरह से अलग है. ठीक उसके उलट.

सरल भाषा में समझाएं तो दास से देव बनने की कहानी.

ट्रेलर देखा, देखकर लगता है ना पॉलिटिकल थ्रिलर!. इसमें देव बलभर गरियाता दिखाई देता है. जब की जो देवदास फिल्में बनी हैं उसमें इसके इतर देखा होगा. इस फिल्म में गोलियों और गालियां दोनो जमकर सुनने को मिलेगी. इस फिल्म का भी मेन किरदार देव प्रताप सिंह ही है. लेकिन अलग. अलग बोले तो, उल्टा.

पहले बनी फिल्मों में लीड किरदार को ‘देव’ से ‘दास’ यानी (दारूबाज) बनते दिखाया गया था. लेकिन इसमें इसमें दास (दारूबाज) से देव बनते दिखाया जाएगा. सुधीर की इस देव दास में देव किसी लड़की या शराब के लिए बल्कि सत्ता के लिए बौराया रहता है.

dasdev-samacharcafe

इस फिल्म में भी पारो है, लेकिन इसमें अदाएं नहीं भौकाल दिखाएंगी. इस फिल्म में भी देव और पारो को एक दूसरे से प्यार है. इस बार भी पारो की शादी किसी और से हो जाएगी. लेकिन अपनी मर्जी से. इस फिल्म में भी देव को चंद्रमुखी का सहारा मिलता है.

इस ‘दास देव’ में देव का किरदार निभा रहे हैं राहुल भट्ट. राहुल ‘अग्ली’ में अपने काम का जलवा दिखा चुके है. जो पारो बनी है वो भी जबर है. “गैंग ऑफ वासेपुर” में देखा होगा आपने. नाम है ऋचा चड्ढा. और चंद्रमुखी का रोल कर रही हैं अदिति राव हैदरी. अदिति की पिछली मूवी थी “भूमि”, संजय दत्त के साथ.

इसके अलावा फिल्म में ‘मुक्काबाज़’ वाले विनीत कुमार सिंह है. दलीप ताहिल, सौरभ शुक्ला, विपिन शर्मा और अनिल जॉर्ज. सबसे बड़ी बात इस फिल्म में अनुराग कश्यप भी हैं. ‘दास देव’ को प्रोड्यूस कर रहे हैं संजीव कुमार. ये फिल्म पहले 9 मार्च को सिनेमाघरों में लगने वाली थी लेकिन अब 23 मार्च को सिनेमाघरों में लगेगी.