मुंबई: मनमोहन सिंह के पूर्व मीडिया सलाहकार संजय बारू की किताब पर आधारित फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के डायरेक्टर विजय गुट्टे को जीएसटी इंटेलिजेंस विंग ने गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि विजय पर 34 करोड़ रुपये के फर्जीवाड़े का आरोप है.

विजय गुट्टे पर आरोप है कि उनकी कंपनी वीआरजी डिजिटल ने होरायजन नाम की एक कंपनी से एनीमेशन और कर्मचारियों की सर्विस लेने के नाम पर 266 करोड़ रुपये दिये. इसपर 34 करोड़ जीएसटी क्रेडिट फर्जी दस्तावेज देकर हासिल करने की कोशिश की. जबकि विजय ने इस कंपनी से कोई सर्विस ही नहीं ली थी.

source: amarujala

बताते चलें कि होरायजन नाम की कंपनी के खिलाफ 170 करोड़ का फर्जी जीएसटी बिल का मामला चल रहा है. ये कंपनी इस तरह अपने क्लाइयंट को फर्जी जीएसटी बिल देकर करोड़ों का घोटाला करती थी.

विजय महाराष्ट्र के राजनेता रत्नाकर गुट्टे के बेटे है जिनपर 5500 करोड़ के बैंक घोटाले का आरोप है. इन्हें विपक्ष ने इस घोटाले का आरोप लगाते हुए महाराष्ट्र के छोटा नीरव मोदी का नाम दिया है.

ये भी है-  बीजेपी विधायक का थाने में गुंडागर्दी का वीडियो वायरल

बतौर निर्देशक विजय रत्नाकर गुट्टे की ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ पहली फिल्म है. फिल्म 21 दिसंबर को रिलीज होगी. फिल्म में मनमोहन सिंह की भूमिका में अनुपम खेर हैं.