मथुरा: भगवान श्री कृष्ण के धाम में गौशाला का उद्घाटन करने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों को विकास का नया मंत्र दिया. गौ रक्षा के सहारे कैसे किसान अपनी प्रगति कर देश का पैसा देश में बचा सकते हैं इसके लिए सीएम योगी ने किसानों के साथ आम जनता को भी आगे आने का अह्वान किया. गौशाला के लिए भूमि पूजन के समय सीएम योगी ने खुद मंत्रोच्चार किया और विधिवत पूजन के साथ गौशाला की नींव रखी. इस दौरान सीएम योगी पूरे महंत की भूमिका में नजर आए.

सीएम योगी ने लगाया गो माता की जय का नारा

भूमि पूजन के बाद मंच से जनता को संबोधित करते हुए सीएम योगी सबसे पहले गो माता की जय का नारा लगाया और फिर समाज में गाय की उपयोगिता गिनाते हुए इनकी रक्षा के लिए समाज के लोगों को आगे आने का अह्वान किया.

सीएम ने कहा कि एक समस्या आ रही थी हम गौ रक्षा कर रहे हैं, लेकिन छुट्टा पशु की दिक्कत ज्यादा बढ़ गई है. उन्होंने इस पर रोक लगाने का कारण बताते हुए कहा कि व्यापक पैमाने पर गौ वंश की तश्करी हो रह थी. तश्करी कर गायों को बंगाल आदि राज्यों में बूचड़खानों तक पहुंचाया जा रहा था. हमने सख्ती से इस पर रोक लगाई.

भारत को बचाना है तो गाय, गंगा और गांव को बचना होगा

मदन मोहन मालवीय जी ने जो सपना देखा था वो समय आ गया है अब उसको साकार करना है. इस ब्रज भूमि पर भगवान ने गौचारण किया इसलिए उनका नाम गोपाल पड़ गया. ये भूमि पवित्र है. ये काम वृन्दावन से प्रारम्भ हुआ मुझे खुशी है. भारत को बचाना है तो गाय, गंगा और गांव को बचना होगा.

सीएम ने कहा कि एलपीजी सिलेंडर में अमूल्य मुद्रा क्रूड ऑयल के नाम पर विदेशों में भेजनी पड़ती है. हर गांव में दुग्दशाला खुले, हमको यह भी व्यवस्था सुनिश्चित करनी पड़ेगी. इससे हर गांव में गौशाला होगी और इसका सम्बर्धन हो जिससे रसोई गैस की गोबर गैस प्लांट के जरिये आपूर्ति भी कर सकते हैं.

शास्त्र ने सभी देवी देवताओं का निवास गाय को यूं ही नहीं माना है

सीएम योगी ने कहा कि पहले चरण में हर जिले में गाय का सम्बर्धन और संरक्षण होगा. और फिर दूसरे चरण में राज्य के हर किसानों के अच्छी नस्ल के दो गायों को उपलब्ध कराने की योजना है. उन्होंने कहा कि शास्त्र ने सभी देवी देवताओं का निवास गाय को यूं ही नहीं माना है, उसमें दैवीय शक्ति है. उन्होंने कहा कि शुरुआत यहां से हो गयी है आगे इस तरह का कार्यक्रम का बुन्देलखण्ड में भी होगा. किसान खेती के साथ-साथ पशुपालन पर भी ध्यान दें. उसे बढ़ाबा मिलेगा.