जोधपुर सेंट्रल जेल में बंद कैदी नंबर 106 यानि सलमान खान ने सजा की पहली रात काट ली है. सलमान को जोधपुर के कंकाणी में 1998 में दो काले हिरणों का शिकार करने के जुर्म में जोधपुर की CJM कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई है. आज सलमान खान की जमानत याचिका पर सेशन कोर्ट में सुनवाई होनी थी लेकिन बताया जा रहा है कि सलमान की जमानत पर अब कल सुबह 10.30 बजे फैसला आएगा .

दरअसल, कल यानी 5 अप्रैल को सलमान खान को 5 साल की सजा सुनाई गई थी. जिस जज ने सजा सुनाई थी उनका नाम है देव कुमार खत्री. खत्री साहब जोधपुर के चीफ ज्यूडिशियल मैजिस्ट्रेट है. सजा सुनाते हुए जज साहब ने कहा थी कि-

“सलमान खान एक अभिनेता हैं और ऐसा व्यक्ति अगर संरक्षित काले हिरणों का शिकार करेगा तो और लोग भी इस दिशा में प्रेरित हो सकते हैं. वैसे भी इन दिनों वन्यजीवों को मारने की घटनाएं बढ़ रही हैं, लिहाजा सलमान खान को संदेह का लाभ नहीं देते हुए कठोर सजा मिलनी चाहिए.”

जज साहब के सजा सुनाते ही जोधपुर पुलिस ने सलमान को जेल भेज दिया. लेकिन सलमान के जेल जाने के बाद भी कुछ ऐसे सवाल हैं, जिसके चलते उनको ऊपरी अदालत में लाभ मिल सकता है.

सबसे बड़ा और अहम सवाल ये है कि मुंबई जैसे शहर से आकर जोधपुर में शूटिंग करने पहुंचे सलमान को कैसे पता चला कि हिरण कहा हैं. सलमान खान को तो किसी न किसी ने बताया ही होगा. इसमें नाम दुष्यंत का आया था, लेकिन दुष्यंत को कोर्ट ने बरी कर दिया.

बता दें कि काला हिरण के शिकार के मामले में सलमान खान, तब्बू, सोनाली बेंद्रे, सैफ अली खान, नीलम, दुष्यंत सिंह और ड्राइवर हरीश दुलानी की मौजूदगी बताई गई थी. काले हिरण को मारने के बाद सलमान खान, के साथ इन 6 को भी आरोपी बनाया गया. लेकिन कोर्ट ने सलमान खान को तो दोषी ठहराया, और बाकी के 6 लोगों को बरी कर दिया.


ये भी पढ़ें-

आसाराम के साथ सलमान खान ने गुजारी रात
सलमान को 5 साल की सजा