एक लड़का है. उम्र है 14 साल. नाम है अकमल. ये जनाब अंड़े देते हैं बिल्कुल वैसे जैसे मुर्गियां देती है. 2016 से अब तक इन्होंने 20 अंडे दिए हैं. अकमल ने डॉक्टरों के सामने भी दो अंडे दिए हैं. डॉक्टरों को समझ नहीं आ रहा करे तो क्या करें. देख रहे हैं औऱ हस रहे हैं. क्यों कि किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा है.

डेली मेल की खबर के मुताबिक, मामला इंडोनेशिया का है. यहां के रहने वाले अकमल अंड़े देते हैं. अकमल के पापा बताते हैं कि उनका बेटा जो अंडा देता है, उसमें या तो बस पीला वाला हिस्सा होता है. या फिर सफेद वाला. पहली बार जब उन्होंने अकमल के दिए अंडे को फोड़ा, तब उसमें पीला हिस्सा, ही था.

अकमल के पापा ने बताया अकमल पिछले कुछ सालों से बार-बार बीमार पड़ रहा था. जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां उसने डॉक्टरों के सामने अंडे दिए. जिस अस्पताल में अकमल ने अंड़े दिए हैं उसका नाम है शेख युसूफ हॉस्पिटल. वहां के डॉक्टर बस हैरान हैं क्यों कि समझ में तो कुछ आ ही नहीं रहा.

विज्ञान के हिसाब से कोई भी इंसान अंडे नहीं दे सकता. ऐसा होना नामुमकिन है. मगर ये तो विज्ञान कहता है. लेकिन लड़का अंड़े दे रहा है, वो भी उनके सामने. अब वो इस पहेली को बूझने में लगे हैं. लेकिन मामला ही नहीं समझ आ रहा.