सऊदी अरब एक ऐसा देश, जिसके कानून पूरी दुनिया में फेमस हैं. लेकिन अब और भी फेसम हो गए (वाहियात श्रेणी में). मामला साल 2006 का है. एक 19 साल की लड़की अपने स्कूल के एक दोस्त के साथ कार में बैठी थी. तभी दो युवक जबरन उनकी गाड़ी में घुस आए और उन्हें किसी सुनसान इलाके में ले गए.

पीड़िता के मुताबिक, 7 लोगों ने उसका 14 बार रेप किया और उसके दोस्त को भी बुरी तरह से पीटा. पुलिस में शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया था.

मामला खत्म हो गया था. पीड़िता अपने साथ हुई दरिंदगी को भुलाते हुए फिर से नई जिंदगी की ओर कदम रख रही थी. अब सऊदी अरब की एक अदालत ने गैंगरेप पीड़िता को 200 कोड़े मारने और 6 महीने जेल की सजा सुनाई है.

वजह बताया गया, “सेल्फी”. पीड़िता का कसूर सिर्फ इतना था कि वह अपने एक पुरुष दोस्त के साथ बाहर निकली थी और फोटो ले रही थी.

सऊदी अरब के शरिया कानून के मुताबिक, स्थानीय महिलाएं अगर घर से बाहर निकलती हैं तो उनके साथ किसी रिश्तेदार खासकर पुरुष का होना जरूरी होता है. ऐसा न करने की दशा में यह कानूनन अपराध है. कनाडा, अमेरिका ने भी इस फैसले की निंदा की है. वहीं कई देशों के मानवाधिकार संगठन भी इसे अधिकारों का हनन बता रहे हैं.