ऑस्कर 2018 में बेस्ट फ़िल्म का अवॉर्ड पाने वाली फिल्म ‘द शेप ऑफ वॉटर की कहानी.

13 केटेगरी में  नॉमिनेट होनी वाली फिल्म ‘द शेप ऑफ वॉटर’ ने ऑस्कर 2018 में बेस्ट फ़िल्म समेत चार ऑस्कर अवॉर्ड जीते है. इस फिल्म के राइटर-डायरेक्टर गुएर्मो डेल टोरो हैं. जिन लोगों ने ये फ़िल्म नहीं देखी है, उनके लिए फ़िल्म की कहानी वो भी शॉर्टकट में.

 

‘द शेप ऑफ वॉटर’ की कहानी 60 के दशक के अमेरिका की है. जब सोवियत संघ और अमरीका के बीच शीतयुद्ध चल रहा था. फ़िल्म की मुख्य किरदार एलिसा (सैली हॉकिन्स) हैं जो बोल नहीं सकती. एलिसा एक सिनेमाघर के ऊपर बने घर में रहती है. उसका कोई परिवार नहीं है. सिर्फ दो ही लोग हैं जो उसकी दुनिया है. सामने के फ्लैट में रहने वाला जाइल्स (रिचर्ड जेनकिन्स) जो बूढ़ा हो रहा है. सरी है उसके साथ गोपनीय सरकारी प्रयोगशाला में सफाई का काम करने वाली ज़ेल्डा (ऑक्टेविया स्पेंसर)

जलीय प्राणी और एलिसा

कहानी में दो और मुख्य पात्र हैं. एक है डॉक्टर हॉफस्टेटलर (माइकल स्टूलबर्ग) जो इस प्रयोगशाला में साइंटिस्ट हैं लेकिन असल में एक रूसी जासूस हैं. लेकिन शीतयुद्ध के राष्ट्रवाद वाले दौर में भी अमेरिकी एलाइज़ा और इस रूसी जासूस में जो संपर्क होता है वो सामान्य होता है.

फ़िल्म का पांचवां और सबसे अहम किरदार बाकी सबसे बिलकुल अलग है. ये पांचवां किरदार है लैब के एक टैंक में रहने वाला जलीय जीव. इस किरदार को निभाया है डग जोन्स ने.

जाइल्स और एलाइज़ा की भूमिकाओं में रिचर्ड जेनकिन्स और सैली हॉकिन्स

जलीय प्राणी को एक दक्षिण अमेरिकी नदी से एक आर्मी ऑफिसर (माइकल शैनन) ने पकड़ा और बंदी बना लिया. कहा जाता है कि वो उस नदी के किनारे बसे कबीलों का देवता है. इस जीव (डग जोन्स) को इस प्रयोगशाला में टॉर्चर किया जाता है. लेकिन एलिसा और उसका विशेष रिश्ता बनता है.

फ़िल्म में एक संवाद है, जिसे एलिसा संकेतों के ज़रिए कहती है. “जब वो मुझे देखता है, और जैसे वो मुझे देखता है, तब वो नहीं जानता कि मुझमें क्या कमी है. कि कैसे मैं अधूरी हूं. वो मुझे वैसे ही देखता है जैसी मैं हूं, जो मैं हूं. वो मुझे देखकर खुश होता है. हर बार. हर रोज़. अब या तो मैं उसे बचा सकती हूं या उसे मरने दे सकती हूं.”

एलिसा फ़िल्म में इस जलीय जीव को बचाने की कोशिशें करती हुई नज़र आती है. ये कोशिशें कभी इस जलीय जीव को अपने बाथटब में छिपाती तो कभी कहीं और.

इनके नाम रहा Oscar 2018-

बेस्ट फिल्म : ‘द शेप ऑफ वॉटर’

लीड एक्ट्रेस: फ्रांसिस मैकडोरमैंड को फिल्म ‘थ्री बिलबोर्ड्स आउटसाइड एबिंग मिसौरी’ के लिए

लीड एक्टर : गैरी ओल्डमैन फिल्म ‘डार्केस्ट ऑवर’ के लिए

डायरेक्टर : ‘द शेप ऑफ वॉटर’ के लिए निर्देशक गिलियेरमो देल तोरो को

ऑरिजनल सॉन्ग: फिल्म ‘कोको’ का गाना रीमेंबर मी के लिए क्रिस्टन एंडरसन- लोपेज और रोबर्ट लोपेज

ऑरिजनल स्कोर: ‘द शेप ऑफ वॉटर’ के लिए अलेक्सांद्रे डेसप्लाट

बेस्ट सिनेमेटोग्राफी: ‘ब्लेड रनर 2049’ के लिए रोजर ए. डिकिन्स

ऑरिजनल स्क्रीनप्ले: ‘गेट आउट’ के लिए जॉर्डन पीले

अडाप्टेड स्क्रीनप्ले: ‘कॉल मी बाय यूअर नेम’ के लिए जेम्स आइवरी

लाइव एक्शन शॉर्ट : ‘द साइलेंट चाइल्ड’ के लिए क्रिस ऑवरटन और रेचल शेंटों

बेस्ट डॉक्यूमेंट्री शॉर्ट: ‘हेवन इज ए ट्रैफिक जैम ऑन द 405’

बेस्ड एडिटिंग: ‘डनकर्क’ के लिए ली स्मिथ

बेस्ट विजुअल इफेक्ट्स: ‘ब्लेड रनर 2048’ के लिए जॉन नेलसन, गर्ड नेफजर, पॉल लेमबर्ट और रिचर्ड आर. ह्यूवर

बेस्ट एनिमेटेड फिल्मः ‘कोको’, ली उनकिर्च और डार्ला के एंडरसन

एनिमेटेड शॉर्ट फिल्मः ‘डियर बास्केटबॉल’ के लिए ग्लैन कीन और कोबी ब्रायंत को

बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेसः एलिसन जैनी को ‘आई, तान्या’ के लिए.

फॉरेन लैंग्वेज फिल्मः चिली की ‘अ फैंटास्टिक वूमेन’ ने मारी बाजी.

प्रोडक्शन डिजाइनः ‘द शेप ऑफ वॉटर’ के लिए पॉल डेनहैम ऑस्टरबेरी, शेन विआऊ और जेफ्री ए. मेल्विन

साउंड मिक्सिंगः ‘डनकर्क’ के लिए ग्रैग लैंडेकर, गैरी ए. रिज्जो और मार्क वाइनगार्टन.

साउंड एडिटिंगः ‘डनकर्क’ के लिए रिचर्ड किंग और एलेक्स गिब्सन.

बेस्ट डॉक्युमेंट्रीः ‘इकारस’ के लिए ब्रियान फोगेल और डैन कोगन को मिला.

कॉस्ट्यूम डिजाइनः ‘फैंटम थ्रेड’ के लिए मार्क ब्रिजेस को.

बेस्ट सपोर्टिंग एक्टरः सैम रॉकवैल को ‘थ्री बिलबोर्ड्स आउटसाइड एबिंग मिसौरी” के लिए दिया गया है.

मेकअप ऐंड हेयरस्टाइलिंगः ‘डार्केस्ट ऑर’ के लिए काजुहिरो सुजी, डेविड मेलिनॉस्की और लुसी सिबिक को दिया गया है..